​पीसीबी का बड़ा बयान  – PSL के सामने IPL कुछ भी नही !

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष शहरयार खान ने  एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि क्रिकेट की दुनिया मे PSL, IPL से कई गुना ज्यादा फेमस और कमाई देने वाली लीग है , ये लीग दुबई और शारजहां के अलावा कई अन्य देशों में भी उतनी ही पॉपुलर है जितनी इंडिया में (आइस) हॉकी । और साथ ही खिलाड़ियों के मन मे हमेशा देश के लिए खेलने (मरने) के जज्बे का भी विकास करती है।

हमारे सूत्रों ने जब इस प्रेस कॉन्फ्रेंस की डिटेल जानने को कोशिश की तो कई सनसनीखेज खुलासे हुए, एक सवांददाता ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि “बहुत दिनों से पीसीबी की कोई न्यूज़ नही आयी, शाहिद अफरीदी ने भी अब 10 वी बार सन्यास ले लिया है और बाकी प्लेयर्स दुबई निकल गए है , प्रैक्टिस (पार्ट टाइम जॉब) के लिए क्योंकि आईपीएल के टाइम वैसे भी इनको कोई नही पूछता है और मलिक साहब, सानिया भाभी का टेनिस किट बैग उठाते हुए सिनसिनाटी ओपन में नज़र आ रहे है । जब प्रेस कॉन्फ्रेंस के बारे में पता चला तो सोचा ऑफिस में भी कोई काम है नही , थोड़ा टाइम पास करके आ जाते है । दिन ब दिन पीसीबी की परफॉर्मेंस बढ़ती जा रही है, ये यहाँ पर ‘कपिल शर्मा शो’ से भी ज्यादा फेमस है आजकल । ” मियांदाद और अफरीदी के ड्रामे को याद करते करते सवांददाता गला फाड़ कर हँसने लग गए ।

जब इसके बारे में हमने ज़िम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड से प्रतिक्रिया मांगी तो उनके प्रवक्ता ने बताया – “इन्ही हरक़तों की वजह से कोई भी टीम वहां खेलने नही जाती, वो तो हम सोमालियाई डाकुओं से लड़ने की ट्रेनिंग के तहत हम अपने खिलाड़ियों को वहाँ पर खेलने(मरने) भेजते है बाकि क्रिकेट तो हम अपने ग्राउंड में भी खेल सकते है, हम अभी से अगले दौरे(युद्धाभ्यास) के लिए सभी प्लेयर्स से डेथ कॉन्ट्रैक्ट साईन करवा रहे है ताकि नई पीढ़ी(फ़ौज) तैयार हो जाये।

जब हमारे सूत्रों ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड से इस बारे में बात करनी चाही तो उन्होंने ये कहते हुए झाड़ दिया – “देखो जितना शाकिब और मुस्तफिजुर आईपीएल से कमाते हैं उतने में तो हम अपने यहा साल में चार बार PSL करवा सकते हैं । BPL के बाद तो यहां कोई PSL के बारे में बात भी नही करता ।”

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के प्रवक्ता ने हमे जबरदस्ती अपनी प्रतिक्रिया भेजी , उनके अनुसार “भले ही हमारी SLPL बंद हो गयी हो लेकिन हमने अगली 10 PSL जितना रेवेन्यू तो सीजन 1 में कमा लिया था और रही बात प्लेयर्स की तो डग आउट में बैठे बैठे हमारे प्लेयर्स आईपीएल से कमा लेते हैं । इस जवाब के साथ एक जबान निकली स्माईली भी उन्होंने भेजी ।”

वेस्टइंडीज के कुछ प्लेयर्स ने इसका खुलकर समर्थन किया और कहा कि “हमारी हालात तो अफ्रीकन घुम्मकड़ प्रजातियों से भी गयी गुजरी है, बोर्ड हमे सैलरी के नाम पर चिल्लर देता है फिर दुनिया भर की लीग में भाग लेने के अलावा कोई चारा नहीं बचता। अब एक दो प्लेयर्स को छोड़ दे तो आईपीएल में हमारे प्लेयर्स को पूछता ही कौन है लेकिन PSL ने जो हमारे खिलाड़ियों को सम्मान दिया उतना तो हमे T20 वर्ल्डकप जितने पर भी वेस्टइंडीज में नही मिला, इस लीग के दो फायदे है एक तो दूसरी लीग के लिए प्रैक्टिस हो जाती हैं और साथ ही दुबई, शारजहां घूमने का मौका भी मिलता हैं । अब इंडिया के ऑटो में कितना घूमे हम। ये कहते कहते उनकी आंखों में आँसू आ गए और  क्यूबा प्रीमियर लीग में भाग लेने के लिए सामान बांधने लग गए।

जब ये बात हमारे सूत्रों ने आईपीएल के फाउंडर ललित मोदी को बताई तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार करते हुए जोरदार ठहाके मार के हंसने लगे। यहाँ तक कि भूटान क्रिकेट बोर्ड ने भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया ।

जब ये बात man vs wild के बेस्ट सर्वाइवर जॉन छछुंदर को पता चली तो उसने भी कबूल कर लिया कि वो भले 7 दिन अफ्रीका के जंगलों में रह सकता हैं लेकिन PSL के लिए पाकिस्तान में रहना उनके भी बस की बात नही है, जिंदा रहेंगे तो और भी काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: