अरे! देखो अपना राजस्थान बदल रहा है

राजस्थान बदल रहा है

 

अपराध,आतंकवाद का अखाडा बन रहा है

अरे! देखो अपना राजस्थान बदल रहा है

 

वीर,भक्ति, स्वभिमान की धरा
राणा संग हर जाति का वीर मरा
वो आज जातिवाद की आग में जल रहा है।
देखो अपना…………………………………..!

 

महान आदर्श थे कभी तेजल जैसे वीर,
प्रताप,सांगा,सूरजमल,भीलो के तीर
युवा,अपराधियो की राह पर चल रहा है।
देखो अपना…………………………………..!

 

राजनीति पार्टीया अपनी रोटी सेक रही
प्रदेश की जनता अंधी होकर डोल रही
अपराधी शेर-ए-राजस्थान हो रहा है ।
देखो अपना…………………………………..!

 

डीडवाना में पाकिस्तान के नारे
अपराधियो के लग रहे जयकारे
धीरे-धीरे प्रदेश कश्मीर बन रहा है
देखो अपना…………………………………..!

 

बेरोजगारी और गरीबी अपने  चरम पर
लगता है रस्सी के फंदे ही करम पर
किसान और मजदूर दर दर भटक रहा है
देखो अपना…………………………………..!

 

थार को सींचने के साहस में
पानी की बूंदो को सहजने में
अकाल और बाढ़ के दंश झेल रहा है
देखो अपना…………………………………..!

 

भामाशाह और रोजगार गॉरन्टी के झुनझुनों में
पापी पेट के भरण पोषण के चक्करो में
महाराष्ट्र तो कभी गुजरात में भटक रहा है
देखो अपना…………………………………..!

 

महारानी के दम्भ में तो कभी जुमलों के जंजाल में,
शहजादे की नासमझी तो युगपुरुष के नाटकों में
जंतर मंतर पर किसान सबके सामने फंदे पर लटक रहा है
देखो अपना………………………………………………………..!

 

ऐसे ही दिल को झकझोर कर देने वाली कविताए पढ़ने लिए यहाँ क्लिक करे !

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: